Badi Ee Ki Matra Wale Shabd Aur Vakya - Guest Blog News

 बड़ी ई की मात्रा वाले शब्द और वाक्य (Badi Ee Ki Matra Wale Shabd Aur Vakya)- अगर हमें कोई भाषा का संपूर्ण ज्ञान लेना होता है तो हम सबसे पहले उसकी व्याकरण ही सीखते हैं। हिंदी भाषा के साथ भी ऐसा ही है। स्कूल में पहली बार दाखिला लेने पर हमें हिंदी के शब्दों पर पकड़ तेज बनाने को बोला जाता है। अ, आ, इ, ई, इन सभी शब्दों का ज्ञात हमें बचपन में कक्षा नर्सरी जैसी क्लास से मिलना शुरू हो जाता है। बाद में बढ़ती क्लास के साथ हमें अन्य बड़े शब्द और हिंदी व्याकरण का गहरा ज्ञान मिलने लगता है। और धीरे-धीरे हम हिंदी भाषा पर अपनी पकड़ तेज बैठा लेते हैं।

Badi Ee Ki Matra Wale Shabd Aur Vakya


बड़ी ई की मात्रा वाले शब्द और वाक्य (Badi Ee Ki Matra Wale Shabd Aur Vakya)

जब हम छोटे होते हैं और साथ ही स्कूली छात्र होते हैं, तो हमें हिंदी वर्णमाला के सभी 52 अक्षरों से परिचित करवाया जाता है। और यहीं से हमारे हिंदी के सफर की शुरुआत होती है। हमें अ और आ अक्षर से क्या वाक्य बनाना है, इसका हमें अच्छी तरह पता चल जाता है। तो आज हमने अपनी इस पोस्ट में तैयार किये हैं बड़ी ई से शुरू होने वाले अनेक शब्द और वाक्य (Badi Ee Se Shuru Hone Wale Shabd Aur Vakya)। हमारी यह पोस्ट उन सभी के लिए सहायक है जो कक्षा नर्सरी-एलकेजी (L.K.G) के बच्चे हैं। यह उनके लिए भी सहायक है जो पहली बार हिंदी व्याकरण का ज्ञान ले रहे हैं या प्रतियोगी परीक्षाएं दे रहे हैं। तो आइए जानते हैं बड़ी ई की मात्रा वाले शब्द व वाक्यों के बारे में।

बड़ी ई की मात्रा से बनने वाले अनेक शब्द

नीलापीलागीलाचील
सीलढीलदादीमाली
सालीनारीनालीताली
गरीबमराठीकुरीतिसीता
गीतामीतानीतागरीब
लक्ष्मीजीराबिंदीहिंदी
टिंडीपार्टीपार्टीशनसमीर
भिखारीबाल्टीलीलानीलम
कीड़ाक्रीड़ाभीष्मगांधी
दीक्षाधीमाबीवीबीसीसीआई
कैदीदहीसुखीगीत
जीभयोगीरोगीजोगी
डोलीशादीपत्नीपति
जोड़ीगोदीबीजकंपनी
खिलाड़ीमुरलीपीपलताजगी
तुलसीसंगीतगुलाबीनारंगी
राजधानीअलमारीनारीवारी
वाकईअभिनेत्रीशाकाहारीबकरी
जीवनसीखवीरगिलहरी
छिपकलीपरीदरीहरी
भिखारीरानीमकड़ीसीख
भीखदीपकपक्षीभक्षी
थालीरोटीखोटीहाथी
मोटीपपीतागोटीकली
नलीभिखारीरानीनींबू
वीणामछलीगलतीहिलती
मिलतीसूचीपूरीनूरी
हिरासतमीराजीरानिकल
जीवनदीवालीदीवानीदीवाना
विश्वकमीफटीबंदूक
धोबीकैदीबिजलीकैरी
जैरीजारीजानीअच्छी
कीगलकाकीनाकीखाखी
खादीखालीगंदीघोड़ी
झींगाझीलढीलीतीन
ताईनाईसाईथाई
थीमनीमनितिभीतर
भिंडीभीड़रोतीहोती
मोतीवीरानशीर्षसाथी
सहेलीक्षीरसागरक्षीणताईख

बड़ी ई की मात्रा वाले 40 शब्द

  1. असली
  2. नकली
  3. मीरा
  4. नीरा
  5. हीरा
  6. शीरा
  7. प्राचीन
  8. धोबी
  9. गोभी
  10. लोभी
  11. दीपक
  12. अंधी
  13. डंकी
  14. डंडी
  15. दादी
  16. नानी
  17. पति
  18. दही
  19. नहीं
  20. वही
  21. खीर
  22. नीरज
  23. नीर
  24. नीरस
  25. कैंची
  26. गुलाबी
  27. गुलामी
  28. होली
  29. खोली
  30. नदी
  31. दीपक
  32. कैसी
  33. किसी
  34. सादी
  35. खादी
  36. साड़ी
  37. नाड़ी
  38. नाज़ी
  39. पाजी
  40. हांडी

चार अक्षर के बड़ी ई की मात्रा के शब्द

  1. दीपावली
  2. नवनीत
  3. जगजीत
  4. हरमीत
  5. अजनबी
  6. अहंकारी
  7. महारानी
  8. भारतीय
  9. सरकारी
  10. मनमानी
  11. तकनीक
  12. गुरुवाणी
  13. बदनामी
  14. पिचकारी
  15. बनारसी

तीन अक्षर के बड़ी ई की मात्रा वाले शब्द

  1. आरती
  2. दीपक
  3. मछली
  4. शरीर
  5. वजीर
  6. लालची
  7. बावर्ची
  8. धरती
  9. अपील
  10. दलील
  11. वकील
  12. सुनील
  13. मीनाक्षी
  14. सोनाक्षी
  15. शीशल
  16. पीतल
  17. चीतल
  18. नसीब
  19. नंदनी
  20. अरबी
  21. अपील

बड़ी ई की मात्रा से बनने वाले अनेक वाक्य

  1. दही की हांडी फूट गई।
  2. असली ज्ञानी होना कोई आसान बात नहीं है।
  3. उस रात बड़ी ही तेज आंधी आई और सब कुछ तहस नहस कर गई।
  4. वह बहुत ही संदेही किस्म का इंसान है।
  5. बगीचा देखने में बहुत ही सुंदर था।
  6. हर किसी को सरकारी नौकरी का अवसर प्रदान नहीं होता है।
  7. इस रक्षाबंधन पर मैंने अपने भाई को बड़ी ही सुंदर राखी बांधी।
  8. अब मुझसे गिरिजा की पीड़ा देखी नहीं जाती।
  9. वह भवन देखने में बेहद सुंदर था परन्तु वह वीरान पड़ा था।
  10. तुम निशा से अच्छी सब्जी बनानी सीखो।
  11. पुराने समय में संगीत महफ़ल सजा देता था। आज के समय में ऐसा बिल्कुल भी नहीं है।
  12. महात्मा बुद्ध ने पीपल के पेड़ के नीचे बैठकर तपस्या की थी।
  13. दिल्ली शहर मस्तानों का शहर है।
  14. महेश को पनीर से बनी सब्जी बहुत पसंद है।
  15. क्या तुम्हें याद है कि तुमने कमरे की चाबी कहां रखी?
  16. वह कुएं पर पानी भरने गई है।
  17. वह एक्टिंग कर सकती है, क्योंकि वह अच्छी कलाकार है।
  18. प्राचीन काल में भारत का नाम भारतवर्ष था।
  19. उसने ढोंगी पंडित बनकर सबको लूट लिया।
  20. आज मां ने खीर बहुत ही अच्छी बनाई थी।
  21. दीपक का इंटरव्यू बहुत ही अच्छा हुआ।
  22. मीरा ने यह प्रतिज्ञा ली है कि वह फास्टफूड नहीं खाएगी।
  23. उसपर गुलाबी रंग की वह स्वेटर बहुत ही खिल रही थी।
  24. धोबी कपड़े धोते हुए घाट पर ही बेहोश होकर गिर पड़ा।
  25. रोटी, कपड़ा और मकान के लिए इंसान कमाता है।
  26. खीरा बेलन आकार का होता है।
  27. हमें थाली में कभी भी झूठा खाना नहीं छोड़ना चाहिए।
  28. आज सुखी वही है जिसे कोई भी तरह की मोह माया नहीं।
  29. बंसत पंचमी पर मां ने पीले चावल तैयार किए थे।
  30. हमें खादी को प्रोत्साहन देना चाहिए।
  31. आज सर्दी बहुत तेज पड़ रही थी।
  32. विदेशी माल का बहिष्कार करके हम मेक इन इंडिया को बढ़ावा दे सकते हैं।
  33. मछली जल की रानी है जीवन उसका पानी है।
  34. वह रोती गई परंतु उसने उसकी एक भी ना सुनी।
  35. बहु भी किसी की बेटी होती है।
  36. मेरी नानी मुझे बचपन में अनेकों परी कथाएं सुनाती थी।
  37. गधे को अंग्रेजी में डंकी कहते हैं।
  38. एक हाथ से ताली नहीं बजती है।
  39. तुम सीटी क्यों बजा रहे हो।
  40. लीची खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होती है।
  41. विभोर आठवीं फेल हो गया।
  42. जापानी लोगों को साफ सफाई का बहुत शौक होता है।
  43. भाईसाहब, इन जूतों की कीमत जरा कम कर दो।
  44. सबका अपना अपना नसीब है।
  45. वरूण मेरा सहपाठी रह चुका है।
  46. जापान की राजधानी टोक्यो है।
  47. तुम पर बनारसी साड़ी बहुत ही अच्छी लग रही थी।
  48. अपनी मनमानी मत चलाओ।
  49. शाम की आरती का समय हो चला है।
  50. निक्की झील माउंट आबू में स्थित है।
  51. कल मैंने अपने परिवार संग बावर्ची फिल्म देखी।
बड़ी ई की मात्रा वाले शब्द और वाक्य" जो हैं, वे हिंदी भाषा में आदिकाव्य, महाकाव्य, विशेषकाव्य, उपमाकाव्य, और तत्त्वकाव्य जैसे कविताओं में पाए जा सकते हैं। इन कविताओं में अक्षर 'ई' की मात्रा का अधिक प्रयोग किया गया है।

यहां कुछ उदाहरण हैं:


आदिकाव्य:

रविंद्रनाथ टैगोर की कविता "गीतांजलि" में 'ई' की मात्रा का अधिक प्रयोग होता है।

महाकाव्य:

कालिदास की काव्य "शाकुन्तला" में भी बड़ी ई की मात्रा का प्रयोग होता है।

विशेषकाव्य:

विष्णु शर्मा की कविता "मेरा जीवन" में 'ई' की मात्रा का उपयोग किया जा सकता है।

उपमाकाव्य:

सूरदास की कविता "मन्मोहक काव्य" में भी बड़ी ई की मात्रा का प्रयोग होता है।

तत्त्वकाव्य:

भरतेन्दु हरिश्चंद्र की कविता "आंधी का अलाप" भी इस श्रेणी में आ सकती है।
इन उदाहरणों में, 'ई' की मात्रा का उपयोग रचनाओं को रूप और ध्वनि में विशेषता और गहराई देता है, जिससे ये रचनाएँ अद्वितीय और छवियाँ बनती हैं।

निष्कर्ष

आज की इस पोस्ट में हमने पढ़ा कि बड़ी ई की मात्रा वाले शब्द कौन-कौन से होते हैं। हमने इसी पोस्ट में बड़ी ई की मात्रा से अनेक वाक्य बनाने भी सीखें। आशा करते हैं कि आपको हमारी आज की यह पोस्ट जरूर पसंद आई होगी। हमारा उद्देश्य यही है कि हम अपने पाठकों की पढ़ाई संबंधित सभी समस्याओं का समाधान अपने पोस्ट द्वारा खत्म करें।

"Badi Ee Ki Matra Wale Shabd Aur Vakya" will soon become your main concern as an individual and as an organisation, because of its potential negative repercussions for you both personally and professionally. For instance, badi ee ki matra wale shabdon aur vakyon's can create unnecessary stress for themselves and for their loved ones in terms of both sexual as well as health risks; specifically "ii" matra lambi hoti. Also this phenomenon will give rise to new questions regarding whether badi ee Ki Matra Wale Shabdon Aur Vakya:

Post a Comment

Previous Post Next Post

Ad3

ad4